₹ 125

दर्शन की दरिद्रता

दर्शन की दरिद्रता
Author: काल मार्क्स
ISBN: 9788170072331
Edition: जून 2011
Multiple Book Set: No

प्रस्तुत रचना १८४६ - ४७ के शीतकाल में लिखी गयी थी . उस समय तक मार्क्स अपने नए इतिहासिक और आर्थिक दृष्टिकोण की मूल आकृति अपने लिए स्पष्ट कर चुके थे . उसी वकत प्रूधों की पुस्तक ' दरिद्ता का दर्शन ' प्रकाशित हुई , जिसने उन्हे इन् आकृतियों को विकसित करने का अवसर दिया . कियुके मार्क्स ने ऐसे आदमी का विरोध करने में यह दृष्टिकोण विकसित किआ , जो तत्कालीन फ़्रांसिसी समाजवाद में मुख्या स्थान लेने वाले थे .

Available Options:

:


Reviews