₹ 60

मज़ाज़ प्रतिनिधि शायरी

मज़ाज़ प्रतिनिधि शायरी
Author: संपादक अर्जुमंद आरा
ISBN: 9788170072294
Edition: मई 2011
Multiple Book Set: No

उर्दू के प्रगतिशील कविओं में एक नाम है मज़ाज़ . असरारुल हक़ मज़ाज़ लख्नऊ के करीब स्तिथ एक पुराने कस्बे रुदौली में १९ अक्टूबर १९११ को पैदा हुए . उनके दादा चौधरी अहमद हुसैन की गिनती रुदौली के अहम् ज़िमींदारों में होती थी , लेकिन उनके पिता सिराजुल हक़ ने वकालत की तालीम पूरी करने के बाद सरकारी नौकरी कर ली , सिराजुल हक़ की ११ औलादों में से पांच ने लम्बी जिंदगी की बहारें देखी , एक बेटे ने १६-१७ साल की उम्र पायी और बाकी बचपन में ही गुजर गए , सलामत रह जाने वालो में दो बेटे , असरारुल हक़ मज़ाज़ और अंसारी हिरवानी और तीन बेटियां थी .

Available Options:

:


Reviews